जस्टिस सूर्यकांत कौन हैं क्यों इतनी चर्चा में हैं (Justice Suryakant ka Jivan Parichay)

0
22
Justice Suryakant ka jivan Parichay nupur Sharma ko lagai fatkaar

Justice Surya Kant Yadav का जीवन परिचय, नूपुर शर्मा के ऊपर बात करने वाले Justice Suryakant ka jivan Parichay Justice Suryakant kaun hai, Justice Suryakant Yadav Biography in hindi, के बारे में हम बात करेंगे।

हाल ही में नूपुर शर्मा का केस काफी तेजी से वायरल हो रहा है इसी बीच उनके ऊपर कई मुकदमे दायर कर दिए गए थे जिसकी वजह से उन्हें सुप्रीम कोर्ट में कड़ी फटकार लगी है। और आज जस्टिस सूर्यकांत यादव के द्वारा उन्हें या फटकार लगाई गई जिसमें उन्हें उदयपुर में हुई हत्या का भी जिम्मेदार बताया गया है।

जस्टिस सूर्यकांत यादव का कहना है कि नूपुर शर्मा की वजह से ही उदयपुर में ऐसा हत्याकांड हुआ है। जिसके बाद देश में जस्टिस सूर्यकांत यादव को लेकर काफी चर्चा चलने लगी है।

तो इसलिए आज हम अपने इस लेख के माध्यम से आपको Justice Surya Kant Yadav kaun hai, Surya Kant Yadav Biography in Hindi सूर्यकांत यादव के जीवन के बारे में आपसे बात करने वाले हैं।

आज हम अपने इस लेख के माध्यम से जस्टिस सूर्यकांत यादव की जीवनी आपके समक्ष रखेंगे।

Who is Justice Suryakant(जस्टिस सूर्यकांत कौन है):-

पैगंबर मोहम्मद के ऊपर विवादित टिप्पणी करने वाली नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट के द्वारा कड़ी फटकार लगाई गई है यह फटकार जस्टिस सूर्यकांत ने लगाई है। जिसके बाद से ही वह काफी चर्चा में आ गए हैं।जस्टिस सूर्यकांत यादव सुप्रीम कोर्ट के जज हैं।

सूर्यकांत यादव 24 मई 2019 को सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर पद संभाले थे। उसके पहले वह हिमाचल प्रदेश के हाई कोर्ट में चीफ जस्टिस के रूप में काम कर चुके हैं। जस्टिस सूर्यकांत यादव हरियाणा और पंजाब हाई कोर्ट के भी जज रह चुके हैं। मई 2018 में इनको हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट का चीफ जस्टिस बनाया गया था।

Justice Suryakant Yadav का जन्म कब हुआ:-

जस्टिस सूर्यकांत यादव का जन्म हरियाणा के हिसार जिले में हुआ है। इनका जन्म 10 फरवरी 1962 को हुआ है। जस्टिस सूर्यकांत यादव रोहतक की महर्षी दयानंद यूनिवर्सिटी से लव बैचलर्स की डिग्री प्राप्त कर चुके हैं। उन्होंने यह डिग्री 1984 में प्राप्त की थी।

उसके साथ ही इन्होंने हिसार की जिला अदालत में कानून की प्रैक्टिस भी कर चुके हैं। आज के समय में यह सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर काम कर रहे हैं।

जस्टिस सूर्यकांत यादव के फैसले:-

जस्टिस सूर्यकांत यादव ने अपने कार्यकाल में कुछ महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं जिनका जिक्र हम नीचे करने वाले हैं इसलिए इस लेख को अंत कर अवश्य पढ़ें।

जिस प्रकार नूपुर शर्मा को फटकार लगाकर जस्टिस सूर्यकांत यादव चर्चा का विषय बन गए हैं ठीक इसी तरह उन्होंने अपने बीते कल में भी कुछ महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं जैसे

Suryakant यादव जज के तौर पर अपने कार्यकाल के दौरान अनुच्छेद 370 सी ए ए और पेगासस जैसे अहम फैसलों पर अपना फैसला सुना चुके हैं।

सबसे बड़ी बात वह जजों की उस बेंच का भी हिस्सा रह चुके हैं जिसने पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यात्रा में हुई खामियों की सुनवाई की थी। और उसके जांच के लिए एक टीम का गठन किया था।

कोरोना महामारी के समय जस्टिस सूर्यकांत जेल में कैदियों के बचाव में सामने आए थे और उन्होंने कैदियों को रिहा करने का आदेश दिया था ताकि जेल में कोरोना वायरस फैलने से रोका जा सके।

आज अपने एक और महत्वपूर्ण फैसले की वजह से सूर्य कांत यादव काफी चर्चा में है। नूपुर शर्मा केस के ऊपर 2 जजों की बेंच ने सुनवाई की थी जिसमें जस्टिस जेपी पादरीवाला और जस्टिस सूर्यकांत यादव शामिल थे।

जब सुप्रीम कोर्ट में नूपुर शर्मा के वकील ने कहा कि नूपुर शर्मा के ऊपर जान का खतरा है तब जस्टिस सूर्यकांत यादव ने बात कही की।उनको खतरा है या वह देश की सुरक्षा के लिए खतरा बन गई हैं जिस तरह से नूपुर शर्मा ने पूरे देश में भावनाओं को भड़काया है देश में जो भी हो रहा है उसकी जिम्मेदार नूपुर शर्मा अकेली हैं।

Justice Suryakant Yadav Career:-

Justice Suryakant Yadav ke career के बारे में बात करें तो इन्होंने अपनी कानून की प्रैक्टिस हरियाणा के हिसार जिला कोर्ट से 1984 में तिथि और उसके बाद 1985 में पंजाब और हरियाणा कोर्ट में की थी।वह सबसे युवा एडवोकेट जनरल के तौर पर जुलाई 2000 में अप्वॉइंट किए गए थे।

उसके बाद 2001 में वह सीनियर एडवोकेट बन गए थे और वह तब तक एडवोकेट जनरल बने रहे थे जब तक वह पंजाब और हरियाणा कोर्ट के जज नहीं बन गए थे।जस्टिस सूर्यकांत यादव ने काफी जगह कॉन्फ्रेंस की है और बड़े-बड़े सेमिनार को होस्ट भी किया है।

24 मई 2019 को जस्टिस सूर्यकांत यादव को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के द्वारा सुप्रीम कोर्ट का जज निर्धारित किया गया और आज भी वह सुप्रीम कोर्ट के जज हैं।

जस्टिस सूर्यकांत यादव की पत्नी (Justice Suryakant Yadav Wife):-

अगर जस्टिस सूर्यकांत यादव के वैवाहिक जीवन के बारे में बात करें तो उनकी शादी हो चुकी है लेकिन उनकी पत्नी (Justice Suryakant Yadav Wife details) कि कोई भी जानकारी सामाजिक नहीं है।

जस्टिस सूर्यकांत यादव का परिवार(Justice Suryakant Yadav Family Details):-

जस्टिस सूर्यकांत यादव का परिवार हरियाणा के हिसार जिले का रहने वाला है। इनके पिता का नाम रमेश कंसारा (Ramesh Kansara) और इनकी माता का नाम अति कंसारा (Ahti Kansara) हैं। सूर्यकांत यादव के परिवार में उनके बच्चे भी हैं इसकी कोई जानकारी हमारे पास नहीं है।

जस्टिस सूर्यकांत यादव की सैलरी (Justice Suryakant Yadav Salary):-

जस्टिस सूर्यकांत यादव सुप्रीम कोर्ट के जज में तो इसलिए इनकी सैलरी भी काफी ज्यादा है। जस्टिस सूर्यकांत यादव की सैलरी लगभग ₹2.50 लाख हैं। इसके अलावा उनको अन्य सुविधाएं भी दी जाती हैं।

जस्टिस सूर्यकांत यादव का Instagram Account:-

जस्टिस सूर्यकांत यादव इंस्टाग्राम का इस्तेमाल करते हैं और उनका इंस्टाग्राम पर अकाउंट भी है उनके इंस्टाग्राम अकाउंट पर जाने के लिए लिंक पर क्लिक करें।

जस्टिस सूर्यकांत यादव का Twitter Account:-

जस्टिस सूर्यकांत यादव ट्विटर का भी इस्तेमाल करते हैं जो कि काफी पॉपुलर है उनका ट्विटर पर भी एक अकाउंट है जिस पर वह अपनी प्रतिक्रिया देते रहते हैं। ट्विटर अकाउंट पर जाने के लिए लिंक पर क्लिक करें।

FAQ(Frequently Asked Questions):-

जस्टिस सूर्यकांत कौन है?

जस्टिस सूर्यकांत यादव सुप्रीम कोर्ट के जज हैं। और हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस भी रह चुके हैं।

जस्टिस सूर्यकांत यादव की उम्र (Age) कितनी है?

जस्टिस सूर्यकांत यादव की आयु 60 साल के हैं।

जस्टिस सूर्यकांत यादव का जन्म कब हुआ था

जस्टिस सूर्यकांत यादव का जन्म 10 फरवरी 1962 को हरियाणा के हिसार जिले में हुआ था।

जस्टिस सूर्यकांत यादव इतनी चर्चा में क्यों है?

जस्टिस सूर्यकांत यादव नूपुर शर्मा केस में अपनी टिप्पणी को लेकर काफी चर्चा का विषय बने हुए हैं। नकुल शर्मा को इन्होंने जो फटकार लगाई है उसकी वजह से वह काफी चर्चा में है।

जस्टिस सूर्यकांत ने नूपुर शर्मा को क्या कहा?

जस्टिस सूर्यकांत ने नूपुर शर्मा के बयानों को भड़काने वाला बताया है उन्होंने कहा कि नूपुर शर्मा को टीवी के सामने आकर देश से माफी मांगने चाहिए और देश में जो भी हो रहा है उसके जिम्मेदार केवल नूपुर शर्मा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here